सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ़ इंडिया, हैदराबाद
इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार
ENGLISH

 












 
एसटीपी कंपनियों के द्वारा धारा 10ए, 10बी और 80 एचएचई के तहत कटौती के लिए दावा करने का अतिरिक्त आयकर आयुक्त का दिशानिर्देश

धारा 10ए

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का अर्थ हैः
(a) किसी भी डिस्क, टेप, छिद्रित मीडिया पर किसी भी कंप्यूटर प्रोग्राम को दर्ज करना या अन्य सूचना भंडारण युक्ति; या
(b) समान प्रकृति के किसी भी अनुकूलित इलेक्ट्रॉनिक डेटा या कोई उत्पाद या सेवा, जिसे बोर्ड के द्वारा अधिसूचित किया जा सकता है, भारत से बाहर किसी स्थान के लिए भारत से किसी भी माध्यम द्वारा संचारित या निर्यात किया गया हैं। (प्रावधान २ की व्याख्या के अनुसार )

निर्यात कारोबार को भी धारा 10आ और 10भ् के तहत इस प्रकार परिभाषित किया गया हैः

“निर्यात कारोबार”के अंतर्गत वह सभी शामिल है जिसे करदाता द्वारा उप - धारा के अनुसार परिवर्तनीय विदेशी मुद्रा में सामाग्री या वस्तुओं या कंप्यूटर सॉफ्टवेयर को प्राप्त किया जाता है, या भारत के अंदर लाया जाता है, परन्तु जिसमें भारत से बाहर से आने वाले सामाग्री या वस्तुओं या कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के वितरण पर लगने वाला माल भाड़ा, दूरसंचार शुल्क या बीमा शामिल नहीं है, या व्यय, यदि कोई है, भारत से बाहर तकनीकी सेवाएं प्रदान करने के लिए विदेशी मुद्रा में किया गया कोई भुगतान शामिल नहीं है।

जबकि धारा 10आ और 10भ् के तहत केवल कंप्यूटर सॉफ्टवेयर को, जो भारत से बाहर निर्यात किया जाता है, को छूट प्राप्त है, धारा 80 एचएचई के तहत कटौती देना न केवल भारत से बाहर निर्यात किये जाने वाले सॉफ्टवेयर पर या भारत के द्वारा भारत से बाहर किसी स्थान पर किसी माध्यम से इसका संचरण करने पर लागू है, अपितु इसके अंतर्गत भारत से बाहर कोई तकनीकी सेवा प्रदान करना भी शामिल है। धारा 80 एचएचई, जो कटौती की अनुमति देता हैं, निम्नलिखित हैः

धारा 80 एचएचई

(1) जहां एक करदाता, एक भारतीय कंपनी या एक व्यक्ति (एक कंपनी के अलावा अन्य) भारत में निवास कर रहा है, व्यापार में संलग्न है।

    (i) इसमें भारत से बाहर कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का निर्यात, या भारत द्वारा भारत के बाहर किसी स्थान के लिए किसी भी तरह से संचरण शामिल है ।

    (ii) इसमें कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के विकास या उत्पादन के संबंध में भारत से बाहर तकनीकी सेवाएं प्रदान करना, शामिल है ।

    करदाता की कुल आय की गणना करने में, करदाता द्वारा कारोबार से प्राप्त लाभ में कटौती की अनुमति इस धारा के प्रावधानों के तहत दी जायेगी.

उपरोक्त अनुभाग कटौती पर कई प्रतिबंध आरोपित करता है। 10आ, 10भ् और 80एचएचई के बीच महत्वपूर्ण अंतर यह है कि तकनीकी या कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के विकास और उत्पादन के संबंध में भारत से बाहर प्रदान की गई सेवाओं के लिए केवल धारा 80एचएचई के तहत कटौती करने का पात्र है, 10आ और 10भ् के अधीन नहीं.

आयकर अधिकारियों ने एक सर्वेक्षण मामले में, यह पाया कि एसटीपी के साथ पंजीकृत अनेक सॉफ्टवेयर / प्रौद्योगिकी सेवा प्रदाताओं के मध्य यह धारणा फैली हुई है कि विदेश से प्राप्त सभी रसीद या तो आईटी अधिनियम के अधीन या 10आ या 10भ् या 80एचएचई के अधीन कटौती के पात्र है । परन्तु इन धाराओं के अधीन विभिन्न छूट / कटौती का दावा करने में बहुत अंतर है और विशेष रूप से वैसी सॉफ्टवेयर कंपनी के लिए, जो भारत से बाहर तकनीकी सेवा प्रदान करने में शामिल है। यह भी देखा गया है कि व्यक्तिगत खरीदारी को भारत से बाहर कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के विकास और उत्पादन के साथ में तकनीकी सेवाएं प्रदान करने के रूप में नहीं माना जा सकता है। 80एचएचई (1बी) के अंतर्गत लाभ में कटौती को 80% की एक सीमा तक प्रतिबंधित किया जा रहा है, क्योंकि कर रियायतों को चरणबद्ध ढंग से समाप्त किया जा रहा है। ऊपर के सन्दर्भ में, 1 अप्रैल, 2001 से शुरू हो रहे आकलन वर्ष के शुरुआत में 20% दावे को अस्वीकृत कर दिया जायेगा और इसलिए कंपनियों से कहा गया है कि इस वित्तीय वर्ष के दौरान उन्हें अपने अग्रिम कर का भुगतान करना आवश्यक है। इसके अलावा, यह भी ध्यान में लाया गया है कि एसटीपी के साथ संबंध और अनुबंध मान्य नहीं होगा इसके बावजूद कि कई कंपनियां प्रावधानों के अनुसार पंजीकृत हों । धारा 10आ और 10भ् के तहत कटौती पर विचार करते समय, ये सभी तथ्य महत्वपूर्ण हैं।


सर्वश्रेष्ठ 800x600 संकल्प के साथ देखा कॉपीराइट © भारत के सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी पार्क