सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ़ इंडिया, हैदराबाद
इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार
ENGLISH

 












 
एसटीपी / ईएचटीपी पंजीकरण के लिए सूची की जाँच करें

आवेदन तीन सेटों में होना चाहिएः

    a) तीन सेटों में आवेदन

    b) ज्ञापन और एसोशिएशन के अंतर्नियम में सॉफ्टवेयर निर्यात / आईटीईएस आदि के लिए उद्देश्य वाक्य होना चाहिए।

    c) कंपनी प्रोफाइल (परियोजना रिपोर्ट) वित्तीय अनुमानों सहित प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    d) प्रवर्तकों और निदेशकों का नाम और पता

    e) प्रवर्तकों का जीवनवृत

    f) पंजीकृत कार्यालय के पते के सत्यापन के लिए आरओसी से प्रपत्र - 18

    g) प्रवर्तकों और निर्देशकों में किसी भी परिवर्तन की दशा में प्रपत्र -32

    h) इकाई की स्थापना के लिए प्रस्तावित इकाई स्थान, और, यदि पट्टे पर हैं तो पांच साल के लिए वैध पट्टा अनुबंध, या स्वामित्व पत्र की प्रतिलिपि प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    i) में एक एकल प्रविष्टि और बाहर निकालने का द्वार होना चाहिए, जिससे कि कस्टम संबंध में किसी भी असुविधा से बचा जा सके

    j) आरबीआई के अनुमोदन की प्रतिलिपि / एफआईपीबी / एसआईए / विदेशी धारण, प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से इक्विटी भागीदारी, या एनआरआई प्रत्यावर्तनीय या गैर प्रत्यावर्तनीय आधार के मामले में

    k) किसी भी संयुक्त उद्यम के मामले में अर्थात उसके वित्तीय, तकनीकी आदि की प्रतिलिपि प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    l) एफई प्रवाह और एफई बहिर्वाह के लिए आवेदन में गणना को सत्यापित किया जाना चाहिए।

    m) एसटीपी योजना के अंतर्गत 100% ईओयू आरम्भ करने के लिए निदेशकों के बोर्ड के प्रस्ताव की प्रतिलिपि और दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने के लिए अधिकृत व्यक्ति

    n) एसटीपी योजनाओं के अंतर्गत परिशिष्ट 14 - 10.1 और 10.2 प्रकिया की पुस्तिका के अनुसार इकाई के लिए खातों की अलग पुस्तकों को बनाए रखने के लिए निदेशक मंडल का प्रस्ताव

    o) प्रकिया की पुस्तिका के परिशिष्ट 14-1 के पैरा 26 के अनुसार जिला पहचान को बनाए रखने के लिए निदेशक मंडल का प्रस्ताव

    p) कंपनी की वेबसाइट के विवरण और पत्राचार के लिए आधिकारिक ई - मेल आईडी का संकेत पत्र

    q) पांच सालों में आयात करने के लिए पूंजीगत वस्तुओं की अंतरिम सूची

    r) पांच सालों में स्वदेश में निर्मित किये जाने वाले पूंजीगत वस्तुओं की अंतरिम सूची

    s) निदेशकों / प्रवर्तकों के ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड, पासपोर्ट आदि की प्रतिलिपि

    t) निदेशकों / प्रवर्तकों के आईटी रिटर्न की प्रतिलिपि

    u) कंपनी के पैन की प्रतिलिपि के साथ-साथ आईटी रिटर्न अगर कंपनी पहले से ही अस्तित्व में है।

    v) दुकान और प्रतिष्ठान अधिनियम के अंतर्गत पंजीकरण, यदि कोई हो
अनुमोदन प्रक्रियाः
    a) अनुमति पत्र को जारी करना

    b) इकाई का पत्र जो नियम और शर्तों की स्वीकृति का संकेत करता हो

    c) 100 रूपये के गैर - न्यायिक स्टाम्प कागज पर कानूनी उपक्रम का हस्ताक्षर

    d) तल योजना का सत्यापन

    e) आयातित पूंजीगत माल की अंतरिम सूची का सत्यापन

    f) स्वदेशी पूंजीगत माल की अंतरिम सूची का सत्यापन
कस्टम संबंधः
    a) पंजीकरण के बाद, इकाई को केन्द्रीय उत्पाद शुल्क और सीमा शुल्क के क्षेत्राधिकार के अधीन कार्यालय से संपर्क करना चाहिए।

    b) आवश्यक दस्तावेजों के प्रस्तुत करने पर, अधिकारी निरीक्षण के लिए परिसर का दौरा कर सकते हैं, और तब कस्टम संबंध लाइसेंस प्रदान किया जाता है।

    c) लाइसेंस प्राप्त होने पर, इकाई को बॉण्ड भ्-17 पर अमल करना होगा.
आयात अनुमोदन के लिए अनुरोधः
    a) आयात के लिए अनुरोध प्रारूप के अनुसार प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    b) प्रोफार्मा चालान / तीन प्रतियों में चालान के साथ तकनीकी साहित्य या विवरणिका की प्रतिलिपि के साथ प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    c) शिपमेंट के मामले में चालान स्पष्ट होना चाहिए। - अर्थात एफओबी या सीआईएफ, और एकमुश्त खरीद पर ऋण या पट्टे के आधार आदि।

    d) वस्तु और मात्रा का विवरण सत्यापित किया जाना चाहिए।

    e) आयात अनुरोध अनुमोदन सीमा के भीतर होना चाहिए।
स्वदेशी स्वीकृति के लिए अनुरोध:
    a) स्वदेशी खरीद के लिए अनुरोध प्रारूप के अनुसार प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    b) प्रोफार्मा चालान / तीन प्रतियों में चालान के साथ-साथ तकनीकी साहित्य या विवरणिका की प्रतिलिपि के साथ प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    c) वस्तु और मात्रा के विवरण को सत्यापित किया जाना चाहिए।

    d) स्वदेशी अनुरोध अनुमोदित सीमा के भीतर होना चाहिए।
सॉफ्टेक्स प्रपत्र की जांच के लिए जाँचसूचीः
    a) सॉफ्टेक्स प्रपत्र प्रत्येक मूल, डुप्लिकेट, और तीन प्रतियों में, साथ साथ प्रासंगिक दस्तावेजों का सेट (स्वयं सत्यापित) प्रस्तुत किया जाना चाहिए, - अर्थात चालान (मूल), पीओ / अनुबंध, सॉफ्टवेयर वर्णन पत्रक, आईईसी (प्रतिलिपि), अधिकृत आईएसपी/ वीएसएनएल / डॉट, एफआईआरसी (यदि कोई हो) से डाटाकॉम प्रमाणपत्र। पते के लिए रबर का मोहर लगा होना चाहिए, आईईसी कोड आदि स्पष्ट रूप से दिखाई देना चाहिए।

    b) सफेद स्याही के उपयोग की अनुमति नहीं है - सील और हस्ताक्षर का उपयोग किया जाना चाहिए, जहाँ कहीं अधिलेखन किया जाता है।

    c) भारतीय रिज़र्व बैंक, विनिमय को, इसकी वैधता की तारीख के भीतर प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    d) सॉफ्टेक्स प्रपत्र इसकी वैधता की तारीख के भीतर प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    e) स्वयं सत्यापित किया हुआ सभी दस्तावेज प्रस्तुत किया जाना चाहिए। (अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता की मुहर और हस्ताक्षर लगा होना चाहिए।)

    f) निर्यातक का नाम और पता एक्जिम नीति के अनुसार लूप के साथ होना चाहिए, और चालान के साथ मेल खाता हुआ, पीओ / अनुबंध और एफआईआरसी (यदि कोई हो)

    g) आईईसी कोड संख्या निर्यातक के साथ निर्यात के समय उपलब्ध होना चाहिए।

    h) सॉफ्टेक्स प्रपत्र में उल्लेख किये गए आईईसी संख्या को डीजीएफटी द्वारा जारी की गई संख्या के साथ मिलना चाहिए।

    i) निर्यातक के उपयुक्त श्रेणी को सॉफ्टेक्स प्रपत्र में उल्लेख किया जाना चाहिए।

    j) सॉफ्टेक्स प्रपत्र में ठेकादाता के पता को चालान के साथ संलग्न किये गए सॉफ्टेक्स प्रपत्र से मिलना चाहिए।

    k) सॉफ्टेक्स प्रपत्र में चालान की तिथि और संख्या को संलग्न किये जाने वाले सॉफ्टेक्स प्रपत्र के चालान के साथ मिलना चाहिए।

    l) सॉफ्टेक्स प्रपत्र में अनुबंध / पीओ के पंजीकरण को हाँ के रूप दिखाया गया है, जो सच नहीं है।

    m) रॉयल्टी शर्त हाँ सॉफ्टेक्स प्रपत्र में चिह्नित किया गया है, परन्तु उसे पीओ / प्रस्तुत अनुबंध में नहीं दिखाया गया है।

    n) एचएसडीसी सेवा प्रदाता का नाम डाटाकॉम प्रदाता द्वारा उपलब्ध कराए गए प्रमाण पत्र के साथ मेल नहीं करता है।

    o) कंप्यूटर सॉफ्टवेयर निर्यात के प्रकार के लिए उपयुक्त कोड का उल्लेख सॉफ्टेक्स प्रपत्र में किया जाना चाहिए।

    p) सॉफ्टेक्स प्रपत्र के 10 बिंदु में निर्यात मूल्य के विश्लेषण को बिंदु वार भरा जाना चाहिए।

    q) नाम, पता, और अधिकृत डीलर कोड सॉफ्टेक्स प्रपत्र के प्रासंगिक अनुभाग में स्पष्ट रूप से भरा जाना चाहिए।

    r) प्रासंगिक साधन जिसके माध्यम से निर्यात मूल्य को प्राप्त किया जाना है उसे चिन्हित किया जाना चाहिए।

    s) वर्ग बी के अनुप्रयोज्यता को निर्दिष्ट किया जाना चाहिए। यदि लागू हो, विवरण दिया जाना चाहिए।

    t) सॉफ्टेक्स प्रपत्र के वर्ग बी में सॉफ्टवेयर पैकेज / उत्पाद के निर्यात पर प्राप्त होने वाले रॉयल्टी का ब्यौरा का स्पष्ट रूप से उल्लेख किया जाना चाहिए और इसके समर्थन में प्रासंगिक दस्तावेज प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    u) सॉफ्टेक्स प्रपत्र के वर्ग सी में नाम, पदनाम, और निर्यातक इकाई की अधिकृत व्यक्ति का हस्ताक्षर, कंपनी का टिकट, तारीख, स्थान और निर्यात की प्राप्ति के लिए उपयुक्त तिथि का उल्लेख किया जाना चाहिए।

    v) नकली सॉफ्टेक्स प्रपत्र में आर अनुपूरक खंड रिटर्न को प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    w) निर्यात के लिए चालान अनुबंध / खरीद आदेश, संदर्भ / आईईसी संख्या, किये गए कार्य की अवधि और निर्यातक के हस्ताक्षर के साथ प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    x) निर्यात पत्रक में वर्णित काम के विवरण को खरीद / आदेश अनुबंध समझौते आदि के साथ मिलान किया जाना चाहिए।

    y) निर्यात चालान में दावा राशि स्वतः स्पष्ट, और सीधे खरीद / आदेश अनुबंध समझौते आदि से प्राप्त करने योग्य होना चाहिए।

    z) सॉफ्टेक्स प्रपत्र को सॉफ्टवेयर निर्यात के समय में प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    aa) निर्यात के संगत अग्रिम प्राप्ति के मामले में एफआईआरसी प्रस्तुत किया जाना चाहिए, और इसे बैंक और प्रेषण के उद्देश्य से अधिकृत व्यक्ति के द्वारा हस्ताक्षरित होना चाहिए।

    bb) सॉफ्टेक्स प्रपत्र के साथ प्रस्तुत किये गए अनुबंध / समझौते / खरीद आदेश विधिवत रूप से दोनों पक्षों द्वारा हस्ताक्षर किया होना चाहिए, और सॉफ्टवेयर निर्यात के समय में मान्य होना चाहिए।

    cc) निर्यात के लिए सॉफ्टवेयर के विवरण को उपयोग किये गए हार्डवेयर, उपयोग किये गए सॉफ्टवेयर प्लेटफार्म, उपयोग किये गए सॉफ्टवेयर टूल्स/ पैकज, उपयोग किये गए मनुष्य-घंटे के संदर्भ में, और निर्यात के लिए सॉफ्टवेयर का एक संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

    dd) अधिकृत आईएसपी/ वीएसएनएल / डॉट, एफआईआरसी से प्रमाणपत्र, जिसमें इकाई के पक्ष में उपलब्ध डाटाकॉम लिंक/इंटरनेट के बारे में संकेत किया गया हो उसे निर्यात के समय प्रस्तुत किया जाना चाहिए।
डीटीए बिक्री (घरेलू टैरिफ क्षेत्र):

रत्न और आभूषण इकाइयों को छोड़कर अन्य इकाइयां निर्यात के एफओबी मूल्य के 50% तक माल / सेवाओं को बेच सकते हैं, जो लागू शुल्कों के भुगतान पर सकारात्मक एनएफई की पूर्ति करने के अधीन हैं।

    a. इकाई एक तिमाही, छमाही या वार्षिक आधार पर डीटीए बिक्री के लिए चुन सकता है।

    b. डीटीए बिक्री की पात्रता का लाभ पात्रता की प्रोद्भवन के 3 साल के भीतर उठाया जा सकेगा।

    c. डीटीए बिक्री पात्रता केवल तभी प्राप्त होगी अगर इकाई एक संचयी आधार पर सकारात्मक एनएफई प्राप्त करता है।

    d. आवेदन पत्र को एक स्वतंत्र कॉस्ट / चार्टर्ड / कॉस्ट और कर्मशाला लेखाकार के द्वारा प्रमाणित किया जाएगा।

    e. घोषित निर्यात को डीटीए पात्रता की अवधि के लिए दावा करते समय पार – सत्यापित किया जायेगा।

    f. प्रमाणित निर्यात घोषणा प्रपत्रों की प्रतिलिपि, बैंक प्रमाणपत्र आदि सत्यापित किया जाना चाहिए।
उप करार:

ईओयू / ईएचटीपी / एसटीपी इकाई अधिकारियों से वार्षिक अनुमति के आधार पर, डीटीए में उत्पादन की प्रक्रिया का उप अनुबंध, जिसमें वस्तु का रूप या प्रकृति को परिवर्तित करना शामिल है, डीटीए में इकाई के द्वारा किये गए कार्यों से किया जा सकता है। अनुमति प्राप्त कर डीटीए कार्य के मूल्य के अनुसार, ये इकाईयां विगत वर्ष के दौरान कुल उत्पादन के 50% को उप-अनुबंध पर करा सकती हैं। इकाई में रखे गए रिकॉर्डों के आधार पर अन्य ईओयू / ईएचटीपी / एसटीपी / सेज इकाइयों के माध्यम से उत्पादन और उत्पादन प्रक्रिया दोनों के उप ठेका को बिना किसी सीमा के शुरू किया जा सकता है।

    a) उप करार के लिए कोई विशिष्ट प्रारूप नहीं है।

    b) इकाई को अपने लेटरहेड पर एसटीपीआई से अनुरोध करना चाहिए।

    c) उप करार से संबंधित अनुबंध के प्रतिलिपि को संलग्न किया जाना चाहिए।

    d) अनुबंध में किये जाने वाले कार्य, अवधि, राशि आदि, के साथ विशिष्ट होना चाहिए।

    e) यदि उप ठेका काम ईओयू / ईएचटीपी / एसटीपी योजना में इकाई को दिया जाता है, इकाई का कौन सा उपक्रम निर्यात लाभ के लिए दावा करेगा।



सर्वश्रेष्ठ 800x600 संकल्प के साथ देखा कॉपीराइट © भारत के सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी पार्क